Don't have Telegram yet? Try it now!
https://hindi.opindia.com/miscellaneous/art-and-literature/nepotism-in-congress-and-hindi-literature-is-killing-both/
'जानता है मेरा बाप कौन है' - यह बीमारी सिर्फ कॉन्ग्रेस में नहीं, हिंदी साहित्य के ठेकेदारों में भी