Don't have Telegram yet? Try it now!
https://hindi.opindia.com/opinion/media-opinion/rajdeep-sardesai-rhea-chakraborty-sushant-singh/
राजदीप सरदेसाई: आज रिया की स्तुति से टीआरपी की तलाश, कभी गुजरात दंगों पर 'प्रोपेगेंडा' से सेंकी थी रोटियॉं