Don't have Telegram yet? Try it now!
https://kmsraj51.com/aim-is-possible-poetry-in-hindi/
लोग मन्जिल को ... हम मुश्किल को मन्जिल समझते है।