Don't have Telegram yet? Try it now!
https://nishpakshjanavlokan.in/1865/
सैकडों वर्षो से लग रही साप्ताहिक बाजार को दबंग अपनी भूमि बताकर बाजार लगने से रोक रहे