Don't have Telegram yet? Try it now!
https://www.sahity.com/hindi-poems/desh-ke-bete-arun-azad/
इस देश के बेटे है हम भारत माँ के गर्भ से आये - अरूण आज़ाद